चौथा कलमा तौहीद हिंदी में तर्जुमा के साथ | Chautha Kalma in Hindi

Chautha kalma

अस्सलामुअलैकुम दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने Chautha Kalma in Hindi (चौथा कलमा तौहीद हिंदी में ) बताया है और इससे पहले हमने पहला कलमा तय्यब, दूसरा कलमा शहादत और तीसरा कलमा तमजीद तर्जुमा के साथ बता चुके है और उसके साथ ही इस आर्टिकल में हमने चौथा कलमा तौहीद के तर्जुमा को भी बताया है जिससे आपको चौथा कलमा का क्या मतलब होता है उसको समझ सकते है |

और इस आर्टिकल में हमने चौथा कलमा को हिंदी भाषा के साथ – साथ इंग्लिश और अरबिक भाषा में भी बताया है आपको जिस भाषा में तीसरा कलमा को पढ़ना है आप उस भाषा में पढ़ सकते है |

चौथा कलमा हिंदी में | Chautha Kalma in Hindi

Chautha kalma in hindi

बिस्मिल्लाहिर रहमानिर रहीम

” ला इलाहा इल्लल्लाहु वह्-दहु ला शरीका लहु लहुल मुल्क व लहुल हम्दु युहयी व युमीतु व हु-व हय्युल-ला यमूतु अ-ब-दन अ-ब-दा जुल-जलालि वल इक् रामि बियदि-हिल खैर व हु-व अला कुल्लि शैइन क़दीर * “

चौथा कलमा का तर्जुमा हिंदी में | Chautha Kalma Tarjuma in Hindi

नहीं है कोई माअबूद सिवा अल्लाह के वो अकेला है उसका कोई शरीक़ नहीं उसी की बादशाही है और उसी के लिए तमाम तारीफ़ है | वो ज़िन्दा करता है और मारता है और वो ज़िन्दा है जो नहीं मरेगा बेहतरी उसी के हाथ में है और वो हर चीज़ पर क़ादिर है |

चौथा कलमा अरबी में | Chautha Kalma in Arabic

Chautha kalma in arabic

بسم اللہ الرحمن الرحیم

لَآ اِلٰهَ اِلَّا اللهُ وَحْدَهٗ لَا شَرِيْكَ لَهٗ لَهُ الْمُلْكُ وَ لَهُ الْحَمْدُ يُحْىٖ وَ يُمِيْتُ وَ هُوَحَیٌّ لَّا يَمُوْتُ اَبَدًا اَبَدًاؕ ذُو الْجَلَالِ وَالْاِكْرَامِؕ بِيَدِهِ الْخَيْرُؕ وَهُوَ عَلٰى كُلِّ شیْ ٍٔ قَدِیْرٌؕ

चौथा कलमा का तर्जुमा अरबी में | Chautha Kalma tarjuma in Arabic

نہیں ہے کوئی معبود سوا الله کے وو اکیلا ہے اس کا کوئی شریک نہیں اسی کی بادشاہی ہے اور اسی کے لئے تمام تعریف ہے – وہ زندہ کرتا ہے اور مارتا ہے اور وہ زندہ ہے جو نہیں مریگا بہتری اسی کے ہاتھ مے ہے اور وہ ہر چیز پر قادر ہے

चौथा कलमा इंग्लिश में | Chautha Kalma in English

Bismillahir Rahmanir Rahim

Laa Ila ha Illal Lahoo Wahda hoo Laa Sharee kalahoo Lahul Mulku Walahul Hamdu Yuhee Wa Yumeetu Wa Huwa Haiy Yul La Yamootu Aba dan Aba da Zul Jalal Li Wal Ikraam Beyadi hil Khair Wa Huwa Ala Kulli Shai In Qadeer.

चौथा कलमा का तर्जुमा इंग्लिश में | Chautha kalma Tarjuma in English

Nahi Hai Koi Mabood Siwa Allah Ke Wo Akela Hai Uska Koi Shareek Nahi Usi Ki Baadshahi Hai Aur Usi Ke Liye Tamam Tareef Hai. Wo Zinda Karta Hai Aur Marta Hai Aur Wo Zinda Hai Jo Nahi Marega Behtari Usi Ke Hath Me Hai Aur Wo Har Chez Par Qadir Hai.

चौथा कलमा पढ़ने के फायदे Chautha Kalma ke Fayde

मेरे इस्लामी दोस्तों, जो शख्स फज्र की नमाज़ के बाद और मगरिब की नमाज़ के बाद चौथा कलमा को पढ़ लेते है 10 मरतबा उसके फायदे जान कर आप बिलकुल हैरान हो जाये गे | सबसे से पहले तो ये के इन कलिमात में से हर कलमे को पढ़ने की बरकत से अल्लाह तआला 10 नेकिया लिखेंगे, 10 गुनाह मुआफ़ फरमाएंगे और 10 दर्जे बुलंद हो जायेंगे यानि के अगर इन कलिमात को 10 बर्ताबा पढ़ेंगे तो 100 नेकियाँ मिल जाएगी और 100 गुनाह मुआफ़ हो जाएगी और 100 दर्जे बुलंद हो जाएगी | एक तो ये फायदा हो गया |

इस कलमा को सुबह से शाम तक और शाम से सुबह तक पढ़ने से वो शख़्स हर नापसंदीदा चीज़ से हिफाज़त में रहेगा|कोई भी नागवारी वाली बात (ऐसी बात जो उसको टेंशन,परेशानी में मुब्तेला कर दे ) उसको पेश नहीं आएगी |

इन कलिमात को पढ़ने वाला शैताने मरदूद से हिफाज़त में रहेगा |यानि शैताने मरदूद उसको परेशान नहीं कर सकता यानि वस्वसे नहीं डाल सकता और बहुत सारी सीज़ो से हिफाज़त होती है |

इन कलमात को हमें अपने लिए ढाल बना लेना चाहिए तो इंशाअल्लाह कोई भी गुनाह हमसे हो गया तो उस गुनाह की वजह से अल्लाह तआला हमें अज़ाब में मुब्तिला नहीं करेगा हमारी हलाकत नहीं होगी उस गुनाह से इंशाअल्लाह |

और नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया की के उस दिन सबसे अफ़ज़ल अमल करने वाला इंसान वही होगा सिवाय उस शख्स के जो उस से ज़्यादा इन कलिमात को पढ़े अगर किसी ने 100 मर्तबा इन कलिमात को पढ़ा तो उसके क्या कहने उसकी फ़ज़ीलत ही फ़ज़ीलत है |

अल्लाह तआला हमें इन कलिमात की बरकत अता फरमाए और पाबन्दी के साथ फज़र की नमाज़ के बाद और मग़रिब की नमाज़ के बाद इन कलिमात को हमें पढ़ने की तौफ़ीक अता फरमाए

FAQS

चौथा कलमा को क्या कहते है?

चौथा कलमा को कलमा तौहीद कहते हैं |

चौथा कलमा हिंदी में क्या है?

चौथा कलमा हिंदी में ” ला इलाहा इल्लल्लाहु वह्-दहु ला शरीका लहु लहुल मुल्क व लहुल हम्दु युहयी व युमीतु व हु-व हय्युल-ला यमूतु अ-ब-दन अ-ब-दा जुल-जलालि वल इक् रामि बियदि-हिल खैर व हु-व अला कुल्लि शैइन क़दीर * ” है |

Conclusion

दोस्तों इस आर्टिकल में चौथा कलमा (chautha Kalma) और इसकी फ़ज़ीलत को बताया गया है और उसके तर्जुमा को भी बताया गया है मुझे उम्मीद है के आप को ये कलमा पसंद आया होगा और अगर इस आर्टिकल में मुझसे किसी तरह की गलती हो गयी तो आप मुझे नीचे कमेंट करके ज़रूर बताये ताकि मैं उस गलती को ठीक कर सकू और इस आर्टिकल को आप अपने दोस्तो और सोशल मीडिया पर शेयर करे ताकि वो लोग भी इस कलमा का फायदा उठा सके |तब तक मैं आपसे अगले आर्टिकल में मिलता हूँ अल्लाह हाफिज़ |

इन्हें भी पढ़ें

Ghar Se Nikalne Ki Dua

Sone Ki Dua

Safar Ki Dua

Azan Ke Baad Ki Dua

Nazar Utarne Ki Dua

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *